• 24 May, 2024
Foreign Affairs, Geopolitics & National Security
MENU

Indo-china War

रेजांगला की चोटियों पर आज भी गूंजती है मेजर शैतान सिंह की हुंकार

1962 के युद्ध से कुछ समय पहले ही 13 कुमाऊं इन्‍फैंट्री बटालियन लद्दाख के चुशूल क्षेत्र में  भेजी गई, जहां पर इस बटालियन को रेजांगला की पहाड़ियों के आस-पास के…

कर्नल शिवदान सिंह

जोगिंदर सिंह के आगे फीकी पड़ी चीनी हमलों की ‘लहर’

1962 के भारत चीन युद्ध में उत्तर पूर्व में अरुणाचल प्रदेश से लगने वाली भारत-चीन सीमा पर तवांग जाने वाले रास्ते पर सूबेदार जोगिंदर सिंह 1 सिख इन्फेंट्री बटालियन के…

कर्नल शिवदान सिंह

चीन की दीवार से ज्‍यादा मजबूत थे मेजर धन सिंह थाापा के इरादे

वर्ष 1962 में हुए भारत-चीन युद्ध को भले ही भारत की हार के तौर पर जाना जाता हो लेकिन उस युद्ध में ऐसे कई मोर्चे थे जहां भारतीय सैनिकों ने…

कर्नल शिवदान सिंह

राजनाथ सिंह ने रेजांग ला युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि दी

नयी दिल्ली, 18 नवंबर (भाषा) : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पूर्वी लद्दाख के रेजांग ला में स्थित युद्ध स्मारक का, उसके सौन्दर्यीकरण के बाद बृहस्पतिवार को उद्घाटन किया। 18,000…

ताज़ा खबर