• 23 April, 2024
Geopolitics & National Security
MENU

अंतरिक्ष में सहयोग बढ़ाएंगे भारत और रूस


बुध, 08 दिसम्बर 2021   |   < 1 मिनट में पढ़ें

नयी दिल्ली, छह दिसंबर (भाषा) : भारत और रूस ने सोमवार को, मानव के साथ अंतरिक्ष उड़ान समेत अंतरिक्ष के क्षेत्र में आपसी सहयोग और प्रगाढ़ करने का संकल्प लिया और प्रक्षेपण यान के निर्माण एवं संचालन में सहयोग के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किये।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच हुई शिखर वार्ता के दौरान इस समझौते पर हस्ताक्षर किये गए। शिखर वार्ता के बाद जारी एक संयुक्त बयान में कहा गया कि दोनों देशों ने रूसी अंतरिक्ष एजेंसी ‘रॉसकॉसमॉस’ और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के बीच सहयोग बढ़ने का स्वागत किया।

इसमें मानव के साथ अंतरिक्ष उड़ान कार्यक्रम तथा उपग्रह नेविगेशन में सहयोग शामिल है।

बयान के अनुसार, दोनों देश प्रक्षेपण यान के विकास, बाह्य अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए प्रयोग और ग्रहों की खोज के विषयों में परस्पर लाभकारी अध्ययन तथा परस्पर सहयोग पर राजी हुए।

भारत और रूस ने मानव सहित अंतरिक्ष कार्यक्रम में संयुक्त गतिविधियों को अंजाम देने के लिए रॉसकॉसमॉस तथा इसरो के बीच हुए समझौता ज्ञापन के खाके के तहत हुए कामकाज का स्वागत किया। रूस स्थित ‘यूरी गागरिन अनुसंधान एवं परीक्षण कॉस्मोनॉट प्रशिक्षण केंद्र’ में चार भारतीयों ने भारत की मानव के साथ पहले अंतरिक्ष मिशन ‘गगनयान’ के लिए प्रशिक्षण लिया है। साझा बयान में इस पर भी संतोष जताया गया।

*****************************************




चाणक्य फोरम आपके लिए प्रस्तुत है। हमारे चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें (@ChanakyaForum) और नई सूचनाओं और लेखों से अपडेट रहें।

जरूरी

हम आपको दुनिया भर से बेहतरीन लेख और अपडेट मुहैया कराने के लिए चौबीस घंटे काम करते हैं। आप निर्बाध पढ़ सकें, यह सुनिश्चित करने के लिए पूरी टीम अथक प्रयास करती है। लेकिन इन सब पर पैसा खर्च होता है। कृपया हमारा समर्थन करें ताकि हम वही करते रहें जो हम सबसे अच्छा करते हैं। पढ़ने का आनंद लें

सहयोग करें
Or
9289230333
Or

POST COMMENTS (0)

Leave a Comment

प्रदर्शित लेख