• 23 April, 2024
Geopolitics & National Security
MENU

ब्रिक्स के लिये भविष्य की चुनौतियों से पार पाने के लिये अगला कदम नवीन सोच : वित्त राज्य मंत्री


गुरु, 09 सितम्बर 2021   |   < 1 मिनट में पढ़ें

मुंबई, आठ सितंबर (भाषा) केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री भगवत कराड ने बुधवार को कहा कि पांच सदस्यीय ब्रिक्स समूह का अगला कदम भविष्य की चुनौतियों से पार पाने के लिये नवीन सोच और व्यवहारिक उपायों को विकसित करना है।

उन्होंने कहा कि ब्रिक्स (ब्राजीज, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) देशों के बीच सहयोग बढ़ा है और इसे और मजबूत बनाने की जरूरत है। कराड ने कहा, ‘‘ब्रिक्स के लिए अगला कदम भविष्य की चुनौतियों के लिए नवीन सोच और व्यावहारिक प्रतिक्रिया को लेकर अगुवाई करना है…।’’

ब्रिक्स वित्तीय मंच के सालाना सम्मेलन में उन्होंने कहा, ‘‘ब्रिक्स को इस अवसर का उपयोग एक रूरपरेखा बनाने के लिए करना चाहिए, जिससे विकास-केंद्रित वैश्वीकरण हो सके। यह अधिक समावेशी सामाजिक-आर्थिक प्रगति को आगे बढ़ाएगा।’’

इस मंच की मेजबानी निर्यात-आयात बैंक (भारत एक्जिम बैंक) ने की। बैठक में ब्राजीलियाई विकास बैंक (बीएनडीईएस), रूस के स्टेट डेवलपमेंट कॉरपोरेशन, चाइना डेवलपमेंट बैंक और डेवलपमेंट बैंक ऑफ दक्षिण अफ्रीका के उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल शामिल हुए।

******




चाणक्य फोरम आपके लिए प्रस्तुत है। हमारे चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें (@ChanakyaForum) और नई सूचनाओं और लेखों से अपडेट रहें।

जरूरी

हम आपको दुनिया भर से बेहतरीन लेख और अपडेट मुहैया कराने के लिए चौबीस घंटे काम करते हैं। आप निर्बाध पढ़ सकें, यह सुनिश्चित करने के लिए पूरी टीम अथक प्रयास करती है। लेकिन इन सब पर पैसा खर्च होता है। कृपया हमारा समर्थन करें ताकि हम वही करते रहें जो हम सबसे अच्छा करते हैं। पढ़ने का आनंद लें

सहयोग करें
Or
9289230333
Or

POST COMMENTS (1)

Shailendra

सितम्बर 09, 2021
1.चीन तालिबान से बहुत ज्यादा डरा हुआ है 2.कट्टरवादी शासन में एक नपुंसक व्यापारी देश चीन का हित कभी सुरक्षित नहीं हो सकता, 3.चीन और अमेरिका का अब से कोई अंतरराष्ट्रीय पटल पर अचिंत्य नही रहा। , क्यों की उसके पास लड़ने की चाहत और क्षमता नही है, ना वो कही जीते है, सिर्फ हथियारों से जंग नही जीते जाते,इस लिए अब सिर्फ 4. भारत ही महा शक्ति है

Leave a Comment

प्रदर्शित लेख