• 20 May, 2024
Foreign Affairs, Geopolitics & National Security
MENU

चीन ने अरुणाचल प्रदेश पर दावा जताते हुए इसे ‘अंतर्निहित हिस्सा’ बताया


शनि, 01 जनवरी 2022   |   2 मिनट में पढ़ें

बीजिंग, (भाषा) : चीन ने शुक्रवार को अरुणाचल प्रदेश में 15 और स्थानों के नामकरण का बचाव करते हुए दावा किया कि तिब्बत का दक्षिणी भाग उसके क्षेत्र का एक ‘अंतर्निहित हिस्सा’ है।

भारत ने चीन द्वारा अरुणाचल प्रदेश के 15 स्थानों के नाम बदलने के कदम को बृहस्पतिवार को स्पष्ट रूप से खारिज किया और जोर देकर कहा कि यह राज्य हमेशा से भारत का अभिन्न अंग रहा है और हमेशा रहेगा क्योंकि ‘‘गढ़े’’ गए नामों से यह तथ्य नहीं बदलेगा।

चीन ने भारत के पूर्वोत्तर के राज्य अरुणाचल प्रदेश में 15 और स्थानों के लिए चीनी अक्षरों, तिब्बती और रोमन वर्णमाला के नामों की घोषणा की, जिसके बाद भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी। चीन अरुणाचल प्रदेश को दक्षिण तिब्बत का हिस्सा बताता है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, ‘‘हमने इस तरह की रिपोर्ट देखी है। ऐसा पहली बार नहीं है जब चीन ने अरुणाचल प्रदेश में स्थानों के नाम बदलने का प्रयास किया है। चीन ने अप्रैल 2017 में भी इस तरह से नाम बदलने की कोशिश की थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अरुणाचल प्रदेश सदैव भारत का अभिन्न अंग था और हमेशा रहेगा। अरुणाचल प्रदेश में स्थानों के नाम गढ़ने से यह तथ्य नहीं बदलेगा।’’

भारत की टिप्पणी को लेकर प्रतिक्रिया के बारे में पूछे जाने पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘तिब्बत का दक्षिणी हिस्सा चीन के तिब्बती स्वायत्त क्षेत्र से संबंधित है और यह चीन का अंतर्निहित क्षेत्र रहा है।’’ लिजियान ने कहा, ‘‘विभिन्न जातीय समूहों के लोग उस क्षेत्र में कई वर्षों से रह रहे हैं और उन्होंने उस क्षेत्र के लिए कई नाम दिए हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘क्षेत्र के मानकीकृत प्रबंधन के लिए चीन में सक्षम अधिकारियों ने प्रासंगिक नियमों के अनुसार संबंधित क्षेत्र के लिए नाम प्रकाशित किए हैं। ये ऐसे मामले हैं जो चीन की संप्रभुता के अधीन हैं।’’

चीन ने दूसरी बार अरुणाचल प्रदेश के कुछ स्थानों के मानकीकृत चीनी नाम देने का प्रयास किया है। इससे पहले 2017 में छह स्थानों के मानकीकृत नामकरण की कोशिश की गई थी। चीन शीर्ष भारतीय नेताओं और अधिकारियों के अरुणाचल प्रदेश के दौरे का विरोध करता रहता है।

अरुणाचल प्रदेश को दक्षिण तिब्बत का हिस्सा बताए जाने के चीन के दावे को खारिज करते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह भारत का अभिन्न अंग है।

******************************************************




चाणक्य फोरम आपके लिए प्रस्तुत है। हमारे चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें (@ChanakyaForum) और नई सूचनाओं और लेखों से अपडेट रहें।

जरूरी

हम आपको दुनिया भर से बेहतरीन लेख और अपडेट मुहैया कराने के लिए चौबीस घंटे काम करते हैं। आप निर्बाध पढ़ सकें, यह सुनिश्चित करने के लिए पूरी टीम अथक प्रयास करती है। लेकिन इन सब पर पैसा खर्च होता है। कृपया हमारा समर्थन करें ताकि हम वही करते रहें जो हम सबसे अच्छा करते हैं। पढ़ने का आनंद लें

सहयोग करें
Or
9289230333
Or

POST COMMENTS (0)

Leave a Comment

प्रदर्शित लेख