• 06 December, 2022
Geopolitics & National Security.
MENU

पुतिन ने शी से वार्ता से पहले ओलंपिक का बहिष्कार करने के लिए अमेरिका की आलोचना की


शुक्र, 04 फरवरी 2022   |   2 मिनट में पढ़ें

बीजिंग, तीन फरवरी (भाषा): यूक्रेन को लेकर पश्चिमी देशों के साथ बढ़े तनाव के बीच चीन के दौरे पर आ रहे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अमेरिका समेत कुछ देशों द्वारा बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक के राजनयिक बहिष्कार की निंदा की और कहा कि ‘अपने स्वार्थ के लिए ओलंपिक चार्टर के खिलाफ खेलों का राजनीतिकरण करने’ का प्रयास किया जा रहा है।

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग शुक्रवार को 17 दिवसीय बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक का उद्घाटन करेंगे। पुतिन, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और 30 राष्ट्राध्यक्ष तथा अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधि उद्घाटन समारोह में शामिल होने वाले हैं।

हालांकि, चीन के अशांत शिनजियांग प्रांत में उइगर मुसलमानों के खिलाफ मानवाधिकारों के उल्लंघन के आरोपों को उजागर करने के लिए अमेरिका, यूरोपीय संघ (ईयू) और कई अन्य देशों द्वारा राजनयिक रूप से इसका बहिष्कार किया जा रहा है।

यात्रा से पहले बृहस्पतिवार को सरकारी ‘शिन्हुआ समाचार एजेंसी’ द्वारा जारी अपने लेख में पुतिन ने कहा, ‘‘दुख की बात है कि कई देशों द्वारा अपने स्वार्थ के लिए खेलों का राजनीतिकरण करने के प्रयास हाल में तेज हो गए हैं।’’

पुतिन ने लिखा है, ‘‘खेलों की शक्ति और विशिष्टता यह है कि वे लोगों को एक साथ लाते हैं, जीत का मौका देते हैं और राष्ट्रीय गौरव के साथ-साथ निष्पक्ष, न्यायपूर्ण और प्रतिस्पर्धा का आनंद मुहैया कराते हैं। इन दृष्टिकोणों को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक आयोजन में भाग लेने वाले अधिकतर देशों द्वारा साझा किया जाता है।’’

चीनी अधिकारियों ने कहा है कि बीजिंग पुतिन की यात्रा को बहुत महत्व देता है, क्योंकि इसका उद्देश्य दोनों देशों के बीच अमेरिका, यूरोपीय संघ और अन्य पश्चिमी देशों के साथ बढ़ती प्रतिकूल परिस्थितियों की पृष्ठभूमि में एकजुटता और रणनीतिक संबंधों को फिर से लागू करना है।

समाचार एजेंसी ‘शिन्हुआ’ ने कहा कि चीन और रूस की ‘‘हमेशा से प्रगाढ़ दोस्ती आकस्मिक रूप से नहीं पनप रही है, बल्कि द्विपक्षीय संबंधों के महत्व तथा अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर दोनों नेताओं के सामान्य दृष्टिकोण से यह आगे बढ़ती गई है।’’

पुतिन का यह दौरा ऐसे वक्त हो रहा है जब अमेरिका और नाटो की चेतावनी के कारण तनाव काफी बढ़ गया है। यूक्रेन की सीमा के पास 1,00,000 से ज्यादा रूसी सैनिकों के जमावड़े से आशंका है कि रूस यूक्रेन पर हमला कर सकता है। हालांकि रूस ने इन आशंकाओं को खारिज किया है।

पुतिन ने कहा है कि वह शी के साथ प्रमुख अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा करेंगे। पुतिन ने कहा, ‘‘निश्चित रूप से, यात्रा के दौरान प्रासंगिक अंतरराष्ट्रीय विषयों पर चर्चा होगी। रूस और चीन के बीच विदेश नीति का समन्वय वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों को हल करने के लिए घनिष्ठ और मेल खाने वाले दृष्टिकोणों पर आधारित है।’’

**********************************************************************************************




चाणक्य फोरम आपके लिए प्रस्तुत है। हमारे चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें (@ChanakyaForum) और नई सूचनाओं और लेखों से अपडेट रहें।

जरूरी

हम आपको दुनिया भर से बेहतरीन लेख और अपडेट मुहैया कराने के लिए चौबीस घंटे काम करते हैं। आप निर्बाध पढ़ सकें, यह सुनिश्चित करने के लिए पूरी टीम अथक प्रयास करती है। लेकिन इन सब पर पैसा खर्च होता है। कृपया हमारा समर्थन करें ताकि हम वही करते रहें जो हम सबसे अच्छा करते हैं। पढ़ने का आनंद लें

सहयोग करें
Or
9289230333
Or

POST COMMENTS (0)

Leave a Comment

प्रदर्शित लेख