• 16 May, 2022
Foreign Affairs. Geopolitics. National Security.
MENU
प्रमोद जोशी
प्रमोद जोशी

प्रमोद जोशी ने लखनऊ विवि से 1973 में एमए राजनीति शास्त्र किया और दक्षिण और दक्षिण पूर्व एशिया पर विशेषज्ञता रखते हैं। भारतीय विदेश-नीति और भू-राजनीति पर व्यापक रूप से लेखन के साथ ही भारतीय रक्षा-नीति, साइबर सुरक्षा और हिन्द महासागर क्षेत्र के सामरिक महत्व पर लेखन करते हैं। लगभग 48 वर्ष से हिन्दी पत्रकारिता में लखनऊ के स्वतंत्र भारत से सन 1973 में शुरुआत की और उसके बाद नवभारत टाइम्स, सहारा टेलीविजन और हिन्दुस्तान, दिल्ली में काम किया। वर्तमान में सम्प्रति रक्षा, विदेशी-नीति, नागरिक उड्डयन तथा आंतरिक सुरक्षा जैसे विषयों पर केंद्रित पत्रिका ‘डिफेंस मॉनिटर’ के प्रधान सम्पादक के रूप में कार्यरत हैं।

 


Articles Lists

बदहवास इमरान चीन में क्या हासिल कर लेंगे?

लगातार अलोकप्रिय होते जा रहे इमरान खान को लेकर पाकिस्तान में अनिश्चय बढ़ता जा रहा है। पर्यवेक्षक वर्तमान व्यवस्थ

चीनी धौंसपट्टी और प्रचार की रणनीति

चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में गतिरोध के दो साल और 13 दौर की बातचीत के बाद भी मामला जस का तस है। समाधान आसान नहीं लगता। च

‘हाइब्रिड-युद्ध’ के दौर में सिविल-सोसायटी से जुड़े बयान पर हैरत क्यों?

इस महीने 12 नवंबर को हैदराबाद में सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में भारतीय पुलिस सेवा के प्रोबेशनरी अ

पश्चिमी क्वॉड यानी भारत की ‘एक्ट-वेस्ट पॉलिसी’

भारत, इजराइल, संयुक्त अरब अमीरात और अमेरिका के विदेश मंत्रियों की हाल में हुई एक वर्चुअल बैठक के दौरान एक नए चतुष्क